जीवन में अपने ये राज साझा करने से व्यक्ति हो जाता है बर्बाद; जानिये क्या कहती है चाणक्य नीति

 

आचार्य चाणक्य मानते हैं कि व्यक्ति को अपनी कमजोरियां कभी किसी के साथ नहीं साझा करनी चाहिए क्योकि अंत में वह व्यक्ति आपकी कमजोरियों का फायदा उठाकर आपको बर्बाद कर सकता है।

Chanakya Niti, Chanakya Neeti, Religion News
चाणक्य नीति के अनुसार व्यक्ति को अपनी कमजोरी किसी के साथ साझा नहीं करनी चाहिए

महान अर्थशास्त्री और रणनीतिकार आचार्य चाणक्य ने एक नीति शास्त्र की रचना की है, जिसमें उन्होंने समाज का मार्गदर्शन करने के लिए कई तरह की नीतियों का जिक्र किया है। चाणक्य जी ने अपने नीति शास्त्र में सफलता प्राप्त करने के साथ ही सुख और शांति से जीवन व्यतीत के करने के लिए भी कई उपाय बताए हैं। चाणक्य जी की नीतियां सुनने में भले ही कठिन लगें लेकिन माना जाता है कि जो व्यक्ति उनकी नीतियों का अनुसरण करता है, वह सुख से अपना जीवन व्यतीत करता है।

चाणक्य जी ने अपने नीति शास्त्र में ऐसी कुछ बातों का जिक्र किया है, जिन्हें व्यक्ति को अपने जीवन में किसी से भी साझा नहीं करना चाहिए क्योंकि इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

अपनी कमजोरी: आचार्य चाणक्य मानते हैं कि व्यक्ति को अपनी कमजोरियां कभी किसी के साथ नहीं साझा करनी चाहिए क्योकि अंत में वह व्यक्ति आपकी कमजोरियों का फायदा उठा सकता है। अक्सर ऐसा होता है कि व्यक्ति अंदर से काफी टूट होता है, ऐसे में कभी-कभी परिवार भी उसका साथ छोड़ देता है। मुश्किल वक्त में साथ देने वाले लोग ही आपके अपने होते हैं बाकी किसी दूसरे को आपके दर्द का कोई अहसास नहीं होता।

दूसरे लोगों के राज: अक्सर लोग विश्वास के चलते आपको अपने दिल की सभी बातें बता देते हैं। ऐसे में आपका भी फर्ज है कि आप अपनों के रहस्यों को किसी के साथ भी साझा ना करें। क्योंकि इससे ना सिर्फ विश्वास टूटेगा बल्कि विरोधी इन बातों का लाभ उठाकर आपके साथी को नुकसान भी पहुंचा सकता है।

धन: अपने और अपनों के धन की जानकारी भी किसी बाहरी व्यक्ति के साथ साझा नहीं करनी चाहिए। क्योंकि लालच के चलते वह आपको आर्थिक नुकसान पहुंचा सकते हैं।

रणनीति: चाणक्य जी मानते हैं कि व्यक्ति को कभी भी अपनी रणनीति किसी दूसरे के साथ साझा नहीं करनी चाहिए। चाहे वह आर्थिक नीति हो या फिर पारिवारिक, सामाजिक और राजनीतिक। क्योंकि ऐसा करने से शत्रु आपके लक्ष्य की प्राप्ति में बाधा डाल सकता है।

0 Comments